Capacitor क्या है ?इसकी Working और Types,Uses In Hindi

Capacitor क्या है और इसके types और working in hindi full information

Capacitor क्या है और यह कैसे work करता है hindi में इसके uses और types इसकी पूरी detail यहाँ पर है

Capacitor एक Passive element है जो Energy को Electrical charge के फॉर्म में Store कर लेता है एक छोटी Rechargeable Battery की तरह Capacitor Mili Seconds में charge होता है और discharge हो जाता है Capacitor को hindi में संधारित्र कहते है

capacitor एक ऐसी device है जिसके use से चालक की धारिता बड़ाई जा सकती है

Capacitance की S.I unit farad होती है इसे F से दर्शाते है  Capacitor का अविष्कार German physicist Ewald Georg von Kleist ने किया था

Capacitors का symbols
Capacitors के symbols तीन तरह के

Capacitor की Basic बनावट

Capacitor में दो Conductor Plates होती है जिनके बीच एक insulator material रख दिया जाता है इस material को dielectric material कहते है Capacitor के लिए dielectric material paper,plastic,glass,rubber कुछ भी हो सकता है दोनों Conductors को metal की पतली rods से जोड़ा जाता है

Working Principal of A Capacitor In Hindi

Capacitor कैसे work करता है full detail in hindi
Capacitor कैसे work करता है या Capacitor working principal in hindi ऐसे keyword google पर मेने देखें इसलिए इस हैडिंग को मेने जोड़ा
यदि Metal की एक plate को battery के Positive से connect किया जाये तो plate पर + charge आयेगा ऐसे ही एक और plate को battery के – से कनेक्ट किया जाये तो उस plate पर negative charge आयेगा अब इन दोनों plates को पास लाते है तो दोनों पर एक दुसरे के अपोजिट charge होने के कारण ये attract होंगें बीच में dielectric है तब इससे इन दोनों के बीच में एक electrostatics field पैदा हो जाएगी
अब battery हो हटा भी लेते है तो दोनों के बीच पोटेंशियल difference रहेगा अब कोई कंडक्टर को इनसे लगाने पर दोनों plates में current flow होने लगेगा
Capacitor energy generate नहीं करता यह स्थिर विधुत यानि Static Electricity को Store करता है जैसे यदि हम अपने बालों से pen को लगाकर किसी कागज के टुकड़े को छुएंगे तो वह pen से चिपक जाता है और फिर अलग करने के बाद दोबारा कागज को pen के पास लायेंगे तो वह नहीं चिपकता हम कह सकते है की pen discharge हो गई है  ठीक इसी प्रकार
हम battery या अन्य power source से capacitor के दोनों terminal को जोड़ते है कुछ समय के लिए माइक्रो या मिली second के लिए तो Capacitor charge हो जाता है और उसे use कर लेने पर वह discharge हो जाता है

Types of Capacitor in hindi

Capacitor कितने types के होते है
Basically Capacitor दो प्रकार के होते है
  1. Polarized Capacitor
  2. Non Polarized Capacitor
Polarized Capacitor के + और – terminal को ध्यान रखना पड़ता है नहीं तो वे काम नहीं करते है और non Polarized Capacitor कैसे भी use कर सकते है नीचे Polarized Capacitor और non Polarized Capacitor के types है

Polarized Capacitor

     (A) Electrolytic Capacitor
  • Niobium Electrolytic Capacitor
  1. Solid Polymer
  2. Solid MnO2
  • Aluminum Electrolytic Capacitor
  1. Non Solid
  2. Solid Polymer
  3. Hybrid Polymer
  • Tantalum Electrolytic Capacitor
  1. Solid MnO2
  2. Solid Polymer
  3. Non Solid

Non Polarized Capacitor

  1. Metal Insulated  Capacitor
  2. Ceramic Capacitor
  3. Film Capacitor
Variable Capacitor

Capacitor के Use और उपयोग

Capacitor को नॉर्मली हम कंडेंसर भी कहते है इसको हम लगभग हर एक circuit में देख सकते है और fan में अपने जरूर देखा होगा कुछ uses नीचे है
  • Alternating Current और Direct current Store करने में Capacitor का use होता है
  • Power Factor Correction में Capacitor का use होता है
  • घर के fan और अन्य जगह Capacitor का उपयोग होता है
  • Tuned circuit में Capacitor का उपयोग होता है
  • Self defense के लिए gadgets में Capacitor का use होता है
  •  Low pass filter के लिए
  • Noise Filter के लिए
  • high pass filter के लिए

I hope Capacitor क्या है ? full detail आपकी समझ आ गयी होगी इसे share करें अपने friends के साथ नीचे button है और कोई Question हो तो comment में पूछ सकते हो ऐसे ही information पाते रहने के लिए subscribe करें

33 comments on “Capacitor क्या है ?इसकी Working और Types,Uses In Hindi

  1. Mere factory main 2 motors laga hai . (Quarter horse power Ka ).
    Or ek miter reading wale be koi v shunt capacitor nhi add karte hain or dusre wale add Kar dete hai . Or ye 2 – 3 Baar ho chuka hai. charge add karne wale bolte hai k meter main shunt capacitor laga lenge to charges add nhi hoga. Or paise lene k chakkar Main rahte hain. Hum kya kre ? Please mujhe better suggestions de.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *