लैपटॉप कैसे खरीदें | गाइड

आज के समय में जब भी हम मार्केट में या ऑनलाइन से कंप्यूटर या लैपटॉप खरीदने जाते हैं तो हमारे दिमाग में परेशान करने वाली कुछ चीजें होती हैं जैसे कौन सा कंप्यूटर अच्छा रहता है तथा इसमें गाइड है RAM और ROM , हार्डडिस्क या प्रोसेसर कैसा होना चाहिए और लैपटॉप लें या कंप्यूटर ये बातें आपके मन में आती रहती है पर में यहाँ आपको बताने की कोशिश करूंगा कि आपको क्या लेना चाहिए. में नीचे कुछ स्टेप या प्रोसेस बताऊंगा जिनसे आप अपनी इच्छा के अनुसार कंप्यूटर या लैपटॉप खरीदने में आसानी होगी।

लैपटॉप vs कंप्यूटर

अब बात करतें है हमें लैपटॉप खरीदना चाहिए या डेस्कटॉप, अगर आपको एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाना पड़ता है या फिर आप एक बेसिक यूजर हो तो आपको लैपटॉप की राह दूंगा

यदि आप कोई होम business , या फिर आपका बाहर आना जाना कम रहता हो , प्राइवेट कंपनी चलाते हो तो आपको डेस्कटॉप खरीदने की सलाह दूंगा क्योँकि ये लैपटॉप से बहुत सस्ते होते हैं और उन्हें एक स्थान पर सेटअप करके उपयोग में ले सकते हैं और तो और इनमें कोई छोटी मोटी प्रॉबलम्स भी आ जाती है तो आप खुद से repair कर सकते हो और इसके पार्ट को आसानी से कंही भी ले जा सकते हो और यदि आपके लैपटॉप का कीबोर्ड खराब हो जाता है तो आपको पूरा लैपटॉप सर्विस सेंटर ले जाना पड़ेगा और खर्चा भी ज्यादा हो सकता हैं।

प्रोसेसर | Processor

प्रोसेसर की बात की जाए तो इसे बहुत ही सोच समझ कर लेना चाहिए क्योँकि ये आपके लैपटॉप का दिमाग होता है अगर आपको अपने लैपटॉप में सिर्फ ms word , ms excel, ms outlook , worksheet , power point , web browsing , पर ही काम करना है तो Core i3 , Core i5 processor सबसे अच्छा होता है

यदि आपको multitasking , video editing , high level के gaming programs , 3D तथा CAD designing पर काम करना हो तो Core i7 processor सबसे अच्छा होता है जितने ज्यादा फीचर्स चाहिए उतना price रेट भी बढ़ता जाएगा आप अपने बजट और काम ले सकते हो।

RAM

इससे पहले आपको प्रोसेसर के बारे में बताया था पर यह काम तभी करेगा जब हमारे लैपटॉप में RAM सही होगी हमारे लैपटॉप में RAM कम तथा प्रोसेसर i3 या i5 का है तो हमारा लैपटॉप हैंग होने लगेगा यानी कहने का मतलब यह है की जितनी ज्यादा RAM होगी उतना अच्छा प्रोसेसर भी होना चाहिए तभी हमारा लैपटॉप सही से काम करेगा जिससे हम इसमें multitasking तथा हैवी प्रोग्राम run कर पाएंगे लैपटॉप में सामान्य तौर पर 4GB RAM या कम से कम 2 GB होनी चाहिए।

Hard disk

अगर आप लैपटॉप लेना चाह रहे हो तो हार्डडिस्क भी जरूरी है यह एक storage डिवाइस है जिसका काम डाटा को स्टोर करने होता है वैसे तो 160GB से लेकर 350GB , 500GB हार्डडिस्क लैपटॉप में आती है इतना तो Normal यूजर्स के लिए ठीक होता है जो कि अधिकतर लैपटॉप में आता ही है

जितना ज्यादा Harddisk होगी उतना ही ज्यादा डाटा जैसे मूवीज और वीडियो गेम्स आदि को स्टोर कर सकते हो वैसे तो 1TB तक Harddisk आती है जो कि एक बडी कंपनी या प्राइवेट sector में उपयोग होती है इसकी तो ज्यादा जरूरत नहीं होती है अगर चाहिये हो तो ले सकते हो पर Costly भी ज्यादा होती है वो आप अपने बजट के हिसाब से देख सकते हो नहीं तो मार्केट में external हार्डडिस्क भी आती हैं जिन्हें आप ले सकते हो जो कि इन से काफी सस्ते और इन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान पर भी ले जा सकते हैं।

 ग्राफिक्स कार्ड | Graphics card

लैपटॉप लेते समय ग्राफिक्स कार्ड को भी ध्यान में रखना पड़ता है वैसे तो Core i processor के लैपटॉप में पहले से ही Integrated graphics card in build होकर आते हैं यदि आप अपने लैपटॉप में 3D तथा CAD designing के सॉफ्टवेयर पर काम करना चाहते हो तो इसके Dedicated graphic card ले सकते पर ये थोड़े महँगे होते हैं फिर आप अपने काम के हिसाब से ले सकते हो।

Screen display size

लैपटॉप खरीदने से पहले display size को भी परखना जरुरी है यदि आप HD gaming के शौकीन हो और बड़े स्तर पर प्रोग्रामिंग करनी हो तो बड़ी display वाला लैपटॉप ले सकते हो और यदि सिर्फ personnel use के लिए लेना चाह रहे हो तो मार्केट में 13’’-14’’इंच display size आसानी से मिल जाएंगे और इन्हें आसानी से बैग में कैरी भी करते हो और एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जा सकते हैं।

USB PORT

इन सबके साथ साथ लैपटॉप में USB पोर्ट भी लैपटॉप खरीदते समय ध्यान में रखना चाहिए क्योँकि ये ऐसे पार्ट है जिनका प्रयोग अलग से external डिवाइस जैसे Keyboard , Harddisk , Pendrive , Bluetooth आदि को लगाना होता हैं वैसे तो लैपटॉप में 3-4 USB port आते ही हैं पर आज के समय में कुछ ऐसे USB पोर्ट आते हैं जिनकी डाटा transfer स्पीड बहुत फ़ास्ट होती है अगर आपको ज्यादा डाटा कॉपी करना पड़ता है तो आप इन्हें ले सकते हो अन्यथा normal स्पीड बाले पोर्ट लैपटॉप के साथ में आते ही हैं।

Battery Backup

अगर आप कोई professional काम करते हो या लाइट की कोई प्रॉबलम्स रहती हो तो इस कंडीशन में Battery बैकअप का होना बहुत ही जरूरी होता है क्योँकि लैपटॉप की warranty 2-3 साल देते हैं पर इसकी बैटरी की warranty एक साल तक देते हैं वैसे तो 5000-6000mah की बैटरी साथ में आरी ही है अगर आपको बैकअप ज्यादा चाहिए हो तो आप 8000-10000mah तक कि बैटरी ले सकते हो जो कि थोड़ी महँगी होती है पर इसमें Battery बैकअप काफी अच्छा होता है जिसे आप online या offline कंही से भी purchase कर सकते हो।

Service center

इतना सबकुछ देखने के बाद बात आती है सर्विस सेंटर की जब आप जिस सिटी लैपटॉप खरीदते हो तो वंहा पर सर्विस सेंटर है या नहीं ये भी देखना पड़ता हैं क्योँकि कभी कभी लैपटॉप use करते समय छोटी छोटी प्रॉबलम्स आती रहती हैं जैसे Battery बैकअप प्रॉबलम्स , हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर प्रॉबलम्स, और कही प्रकार की समस्याएं आती रहती हैं अगर लैपटॉप warranty में है तो service center पर आसानी से repair या मैनेज हो सकते हैं बिना सर्विस सेंटर के हमें इनकी सर्विस ज्यादा महँगी पड़ेगी इसलिए अपनी सिटी में सर्विस सेंटर हो तो काफी अच्छा है।

Laptop weight-

अगर हमारे लैपटॉप का बजन कम होता है तो इससे इसके price रेट पर थोड़ा सा अंतर आता है तथा इसके फीचर्स कम हो जाते हैं यदि हम ज्यादा बजन वाला लैपटॉप लेते हैं तो फीचर्स सामान्य तथा मूल्य बढ़ जाता है अगर आप ट्रेवलिंग या कंही आना जाना ज्यादा रहता है तो हैवी weight वाला लैपटॉप लेना सही होगा

इससे आने जाने में इसके damage होने का खतरा रहता है इन सबसे बचने के लिये Notebook और कम weight का लैपटॉप ही सही रहेगा जिसे लाने ले जाने में ज्यादा परेशानी नहीं होती है।

अगर हल्के बजन के साथ में आपको proccessing power भी चाहिए हो तो इसके लिये ultra book या High end light weight बाले Notebook ही सही रहेंगे.चाहें तो आप i3 या i5 proccessor वाले लैपटॉप ले सकते हो जिनका weight तथा बजन बहुत कम और price rate भी सही होता है।

आशा करता हूँ कि आपको यह टॉपिक कंप्यूटर खरीदने से पहले हमारे क्या क्या चीजे देखनी चाहिए आपको समझ आ गया होगा इसे शेयर कीजिये और कोई question या सुझाव हो तो कंमेंट में लिखिए।

1 thought on “लैपटॉप कैसे खरीदें | गाइड”

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *