Processor किसे कहते है इसके प्रकार एवं काम करने की प्रोसेस

Processor क्या है या किसे कहते है यह कैसे काम करता है पूरी प्रोसेस यह कितने प्रकार के होते हैं इनके क्या क्या काम होते है सब कुछ इस page पर explain किया गया है

Processor क्या है

यह एक बहुत ही उपयोगी माइक्रो चिप होती है जो कि motherboard के साथ CPU में लगा रहता है तथा इसके साथ साथ और भी कंप्यूटर से जुड़े हुए component भी attach रहते हैं जो कि कंप्यूटर को कंट्रोल और मैनेज करता है processor एक विशेष प्रकार की इलेक्ट्रॉनिक चिप होती है जिसे ज्यादातर हमारे कंप्यूटर सिस्टम , मोबाइल फोन, laptops , और टैबलेट्स इन सभी प्रयोग की जाती है

Processor इन सभी devices में एक मतिष्क Brain की तरह काम करता है इसलिये इसे Central processing unit कहा जाता है processor का काम user और कंप्यूटर के बीच में होने वाली बातचीत या कार्य को समझता है

इसी कारण processor user के द्वारा कंप्यूटर में दी गई इनपुट command को अच्छे से जान पाता है और साथ ही इनपुट command पर process या कार्य करके हमारे कंप्यूटर स्क्रीन पर आउटपुट devices के माध्यम से रिजल्ट यानी आउटपुट को display कर देता है processor की स्पीड को गीगाहर्टज में मापा जाता है क्योंकि जितना ज्यादा core का processor होगा वह उतना ही अच्छा काम करता है और हमारे इनपुट को जल्दी प्रोसेस करके कुछ ही सेकंड में आउटपुट display करेगा कुछ Core processor भी होते हैं जितने ज्यादा Core का processor होगा वह उतना ही अच्छा कंप्यूटर सिस्टम performance करेगा अगर single core processor होता तो वह ज्यादा heavy task तथा quality का output नहीं दे पाएगा अर्थात वह Hang होने लगेगा इसलिए आज कल जितने भी कंप्यूटर , मोबाइल , या लैपटॉप आदि गैजेट्स होते हैं उनमें 4 core , 6 core processor का प्रयोग किया जाता है।

Processor काम कैसे करता है

processor step by step इनपुट instruction को execute करता है जो कि इसप्रकार है।

1.Fetch-

fetch का मतलब होता है यूजर के द्वारा दिये गये Instruction या information को लाना और इनका कार्य इनपुट और instruction को RAM से CPU के पास भेजा जाता है इन्हें ये एक IR यानी Instruction register में रखते हैं।

2.Decode-

fetch में user द्वारा दिये गए instruction एक Instruction register में store हो जाता है इसके बाद CPU का काम ये सारी instruction को लेकर एक circuit को पास किया जाता है जिसे decoder कहा जाता है ये decoder इन instruction को signals’ या Binary form (0,1) convert करके CPU के दूसरे पार्ट arithmatic logic unit के पास action लेने के लिये भेज देता है तथा ये arithmatic Calculation करता है।

3.Execute-

जब ये सारी instruction decode होने के बाद CPU के Control unit पार्ट से होकर गुजरना पड़ता है और ये instruction को execute करके output generate करता है फिर उसे दुबारा मेमोरी में भेजा जाता है जो इसे कंट्रोल और मैनेज करती है।

4.Write back-

ये processor का सबसे common और last step हैं इसका मतलब fetch , decode , execute , के द्वारा होने वाली operations को अपने पास किसी register में maintain करती है तथा इस क्रिया के दौरान जितने भी process या application run होते है उन सबको processor के register में maintain करना होता है इसकी सहायता से आउटपुट को जल्दी से एक्सेस कर सकते हैं इसे एक back प्रोसेस भी कहा जाता है।

Computer Processor के प्रकार

आज के समय में मार्केट में बहुत प्रकार के processor उपलब्ध हैं जिन्हें यूजर अपने कंप्यूटर के हिसाब से खरीदता है जो कि इसप्रकार हैं।

1.Budget processor-

आज के समय में Budget processor का प्रयोग बहुत हो रहा है क्योंकि ये इलेक्ट्रॉनिक power को बहुत ही कम consume करते हैं तथा इनकी कीमत भी बहुत ही कम होती है इसलिए ये कंप्यूटर को अपग्रेड करनें के लिये काफी लाभदायक माने जाते हैं क्योंकि इन्हें हर कोई यूजर आसानी से मैनेज कर सकता हैं।

2.AMD processor-

processor काफी सस्ते होते हैं Intel processor के मुकाबले, अगर हम AMD का processor Laptop में करतें हैं तो ये बैटरी power बहुत ही ज्यादा consume करते हैं जिससे बैटरी जल्दी Damage हो जाती है इसके साथ ही इसकी speed भी बहुत ही कम होती हैं जिससे ये heating ज्यादा पैदा करते हैं।

3.Intel celeron-

Intel processor शुरुआत में बहुत बुरा processor माना जाता था क्योँकि इसकी कार्य करने की क्षमता बहुत कम तथा लागत भी ज्यादा थी इस बजह से इसे ई Intel celenor में अपग्रेड कर दिया गया जिसे 64 बिट के नाम से जाना जाता है इसके अपग्रेड होने से इसकी कार्य करनें की क्षमता भी बढ़ गई तथा power भी कम consume करता है जिससे उसमें heating बहुत कम होती हैं।

4.Main stream processor-

ये processor ऊपर दिये गये processor से थोडी ज्यादा पावर consume करतें हैं इसलिये ये ज्यादा Core तथा Caches बाले motherboard प्रयोग करतें हैं इनका प्रयोग करने से पहले motherboard की जाँच करनी पड़ती है।

5.AMD Athlon 64-

इस प्रकार के processor में दो सॉकेट का इस्तेमाल किया गया है जिससे ये 64 bit को support करता है पर इसमें एक कमीं है ये सिर्फ 32 Bit करके कार्य करती हैं।

6.Intel pentium 4-

Intel pentium 4 processor ऊपर के सभी processor से काफी अच्छा होता है इसकी कार्य करनें की क्षमता बहुत ही फ़ास्ट है क्योंकि ये 3.2 गीगाहर्टज पर कार्य करता है जोकि बहुत ही ज्यादा होता है।

7.Dual core processor-

Dual core का मतलब इसमें दो core processor यानी इसप्रकार के processor को दो core processor को एक साथ जोड़कर बनाया गया है जिसे Dual core processor कहते हैं इसमें dual core processor साथ में होने से इसकी गति भी बहुत ज्यादा होती है इसका प्रयोग सिर्फ processor की speed को बढ़ाने के लिए किया जाता है जिससे ये बहुत ही कम समय में आउटपुट दे सकें।

8.AMD athlon 64×2-

इस प्रकार के processor का प्रयोग कंप्यूटर की कार्य क्षमता को बढ़ाने के लिये किया जाता है तथा ये बहुत ही कम power का प्रयोग करते हैं जिससे heating प्रॉबलम्स भी नहीं होती है इस प्रकार के processor typical कार्य को कम सर कम समय में करते हैं इसमें ऐसे सॉकेट का प्रयोग किया गया है जिसे आसानी से motherboard के circuit से attach हो जाते हैं।

9.Intel pentium D-

इस प्रकार के processor द्वारा लगभग सभी प्रकार की सुविधा देने की कोशिश की गई है जैसे इसकी बाकी सभी processor की अपेक्षा में कार्य क्षमता बहुत ही अच्छी है तथा ये बहुत ही कम power को consume करते हैं जिससे इसमें heating की प्रॉबलम्स न के बराबर होती हैं और तो और इसे इस प्रकार design किया गया है जो कि किसी भी प्रकार के matherboard से attach हो सकता है इसकी कीमत भी बहुत कम है इसलिए इसे हर कोई यूजर आसानी से मैनेज कर सकता है।

इन सभी processor के अलावा और भी कई processor होते हैं जिन्हें दो या दो से अधिक processors को आपस में जोड़कर बनाते हैं जैसे Core 2 Do, Quad Core, Penta Core, Hexa Core, Octa Core, इनके अलावा भी i3, i4, i5, i7 core processor भी हैं जो कि इन सबसे ज्यादा advance और upgrade हैं Intel i3 core processor का प्रयोग कुछ बेसिक कार्य के लिए बनाया गया है जैसे ms word, ms outlook, worksheet, power point, web browsing में काम करने के लिये बनाया गया है i5 core processor i3 से थोड़ा अपडेट है इसका प्रयोग ग्राफिक्स कार्ड तथा टैली जैसे software में काम करने के लिये बनाया गया है इसके बाद i7 ये i3, i5 से ज्यादा power full है i7 core processor का प्रयोग multitasking , तथा video editing , high level gaming प्रोग्राम को run करने में किया जाता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *