प्रकाश का वर्ण विक्षेपण किसे कहते है | उदाहरण | कारण

प्रकाश का वर्ण विक्षेपण dispersion of light in hindi

प्रकाश का वर्ण विक्षेपण (dispersion of light)
जब कोई सफ़ेद प्रकाश (श्वेत प्रकाश) किसी भी पारदर्शी माध्यम से गुजरता है तो वह सात अलग अलग रंगों म बट जाता है और इसी प्रक्रिया को प्रकाश का वर्ण विक्षेपण कहते है

सन 1666 में Isaac newton ने प्रकाश के वर्ण विक्षेपण खोज की थी के कोई भी सफ़ेद प्रकाश किसी भी ग्लास prism से जब भी गुजरता है तो वह दूसरी छोर पे सात अलग अलग रंगों में बट जाती है

इन्ही रंगों की इस बैंड को स्पेक्ट्रम (spectrum) कहते है तथा सात रंगों से बनने वाले order ऑफ़ कलर को अगर नीचे से उनके कलर अनुसार पड़े तो वह VIBGYOR बनता है

इन सात रंगों को याद करने के लिए VIBGYOR शब्द का निर्माण करते है जिसमें से
V से बैंगनी (violet)
I से आसमानी (indigo)
B से नीला (blue)
G से हरा (green)
Y से पीला (yellow)
O से नारंगी (orange)
R से लाल (red)
सर isaac newton का यह बहुत पहले से ही मानना था की सफ़ेद रंग सफेद नही होता उसके अंदर और भी कई रंग होते है और यह चीज उन्होंने कांच के prism से स्थापित करदी

प्रकाश के वर्ण विक्षेपण के कारण-

जिस प्रकार हम जानते है कि प्रकाश का वर्ण विक्षेपण एक सफ़ेद रंग के अंदर होने वाले सात अलग अलग रंग होते है हर रंग जब किसी कांच के prism से गुजरता है तो उनका जो विचलन के कोण(angle of deviation) अलग अलग होते है

इन्ही सात रंगों में विचलन के कोण ( angle of deviation) की वजह से सबसे ऊपर जो रंग होता है वो है लाल ( red) और जो सबसे नीचे होता है वो है बैंगनी ( violet) क्योंकि लाल (red) रंग की जो चिरने की क्षमता होती है वह सारे रंगों में सबसे ज्यादा होती है
(उदाहरण) रोड पर लगे सिग्नल्स और रेलवे में लगे सिग्नल में रोकने के लिए लाल बत्ती का उपयोग करते है क्योंकि यह कितना भी कोहरा हो उसमे भी दिख जाता है

वही बैंगनी (violet) रंग हलके से अँधेरे में भी नहीं दिखता इसलिए लाल रंग को ऊपर और बैंगनी को सबसे नीचे रखा है

प्रकाश के वर्ण विक्षेपण का उदाहरण

प्रकाश के वर्ण विक्षेपण का सबसे अच्छा उदाहरण आकाश में बनने वाला इंद्रधनुष (rainbow) होता है यह प्रकर्ति अपने आप बनाती है जब वर्षा और सूरज एक साथ होते है जैसे के वर्षा होने के बाद पानी की बूंदे प्रकर्ति में रह जाती है और ऐसे में जब सूर्य की किरणें उसके पार निकलती है तो वह बूंदे prism का काम करती है और सूर्य से आने वाली किरण साथ अलग अलग रंगों में बट जाती है इसी वजह से इंद्रधनुष(rainbow) नजर आता है

One comment on “प्रकाश का वर्ण विक्षेपण किसे कहते है | उदाहरण | कारण

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *