धातु अधातु की परिभाषा।उदाहरण।अन्‍तर ।उनके रासायनिक गुण। प्रश्‍नोत्‍तर

दोस्‍ताेे इस पेज पर आपको धातुु तथा अधातुओ के बारे मे बताया गया लगभग पूरी जानकारी है  तथा उनके बीच अन्‍तर उनके भौतिक और रासायनिक  गुण आदि  से अवगत कराने का प्रयास किया गया है ।इस पेज पर आप पिछली वर्षो मे इस topic से पूछे गये प्रश्‍न भी देखेगे।

धातु और अधातु किसे कहते है उदाहरण उनके भौतिक और रासायनिक गुण तथा उन पर अ‍ााधारित प्रश्‍न ।

धातु  और अधातु

प्रथ्‍वी  पर  मौजूद सभी पदार्थ तत्‍वो के बने होते है । तत्‍वो को  उनके गुणधर्मो के आधार पर मुख्‍यत: दो भागो मे बाटा जा सकता है ।धातु  और  अधातु ।

आवर्त सारणी मे कुल 118 तत्‍वो मे से 91 तत्‍व धातु है जबकि 27 तत्‍व अधातु है ।

धातु आवर्त सारणी मे बायी तरफ तथा अधातु आवर्त सारणी मे दायी तरफ दिये गये है ।

धातु

धातु प्राय: उन तत्‍वो  को कहा जाता है जो सामान्‍य रासायनिक अभिक्रियाओ के दौरान अपने परमाणुओं मे से एक या एक से अधिक इलैक्‍टान त्‍यागकर धनायन बनने की प्रव्रत्ति रखते है ,धातु कहलाते है।

धातुओ केा धन विद्यु‍ती तत्‍व भी कहा जाता है । जैसे लोहा तॉबा सोना चादी आदि ।

अधातु

अधातु उन्‍हे कहा जाता है जो रासायनिक अभिक्रियाओ के दौरान एक या एक से अधिक इलेक्‍टान ग्रहण करके ऋणायन बनाने की प्रवत्ति रखते है । अधातुओ को ऋण विद्युतीय तत्‍व   भी कहा जाता है।

जैसे आयेाडीन ब्रोमीन कार्बन सल्‍फर आदि ।

धातु और अधातु मे अन्‍तर

स.क्र.  धातु अधातु
1.धातुओ के आक्‍साइड क्षारीय होते हैअधातुओ के आक्‍साइड अम्‍लीय होते है।
2.धातुये प्रक्रति मे प्राय: ठोस अवस्‍था मे मिलती है पारे को छोडकरअधातुये ठोस ,द्रव और गैस तीनो अवस्‍थाओ मे पायी जाती है।
3.सभी धातये अपारदर्शी होती हैअधातये पारदर्शी ,अपारदर्शी,तथा पारभाषी भी होती है।
4.धातुये उष्मा और विद्युत की सुचालक होती है।अधातुये उष्‍मा और विद्युत की कुचालक होती है। अपवाद  ग्रेफाइट
5.धातुये अघातवर्धनीय तथा तन्‍य होती हैअधातुये भंगुर होती है
6.धातुओ के क्‍वथनांक और गलनांक उच्‍च होते है।अधातुओ के गलनांक और क्‍वथनांक निम्‍न होते है।
7.धातये आपस मे मिलकर मिश्रधातु बनायी जाती है तथा यह पारे के साथ मिलकर अमलगम बनाती हैअधातुये आापस मे मिलकर मिश्रधातु नही बनाती।
8.धातुओ मे एक विशेष चमक होती है।अधातुओ मे विशेष चमक नही होती

अपवाद हीरा ग्रेफाइट

धातुओ तथा अधातुओ के रासायनिक गुण

धातु

  • धातुये इलेक्टान त्‍यागकर धन आयन बनाती है तथा रासायनिक अभिक्रिया के दौरान अपचायक के रूप मे कार्य करती है।
  • धातुओ के आक्‍साइड क्षारीय होते है तथा यह अम्‍लो के साथ क्रिया करके हाइड्रोजन गैस मुक्‍त करती है
  • धातुये क्‍लोरीन के साथ क्रिया करके विद्युत संयोजी बंध का निर्माण करती है

अधातुये

  • अधातुये इलेक्‍ट्रान ग्रहण करके ऋणायन बनाती है । तथा रासायनिक अभिक्रिया के दौरान आक्‍सीकारक की तरह कार्य करते है
  • अधातुओ के आक्‍साइड अम्‍लीय होते है तथा यह अम्‍लो के साथ क्रिया नही करते है।
  • अधातुये क्‍लोरीन के साथ क्रिया करके सहसंयोजक बंध का निर्माण करती है।

उपयोग

  • धातुुये मजबूत अघातवर्धनीय तथा तन्‍य होती है जिससे इनसे बर्तन औजार बडी बडी संरचनाये आदि बनाने मे प्रयोग मे लाया जाता है
  • धातओ के क्‍लोराइड जैसे सोडियम   क्‍लोराइड जिसे साधारण नमक कहा जाता है  उसका प्रयोग हम दैनिक जीवन मे  नमक के रूप मे प्रयोग मे लाते है यह मॉस मछली के परिरक्षण करने मे प्रयोग मे लाया जाता है।
  • नीला थोथा जिसका रासायनिक नाम कॉपर सल्‍फेट होता है  उसका प्रयोग विद्युत बैटरियो तथा विद्युत लेपन मे किया जाता है।
  • सिल्‍वर ब्रोमाइड का प्रयोग फोटोग्राफी मे किया जाता है
  • सोडियम कार्बोनेट का प्रयोग जल को म्रदु करने मे किया जाता है
  • लूनर कास्टिक का प्रयोग मतदान के दौरान प्रयोग मे लाई जाने वाली अमिट स्‍याही बनाने मे किया जाता है।
  • अधातुओ मे आक्‍सीजन जिसका प्रयोग श्वसन क्रिया मे  किया जाता है
  • नाइट्रोजन का प्रयोग प्रशीतन के कार्य मे किया जाता है तथा इसका प्रयोग यूरीया बनाने मे भी किया जाता है।
  • हाइ्रइ्रोजन का प्रयोग राकेट ईधन के रूप मे प्रयोग मे लाया जाता है यह वनस्‍पति घी के उत्‍पादन मे भी प्रयोग किया जाता है

धातु तथा अधातुओ से संबधित कुछ महत्‍वपूर्ण प्रश्‍न जो कि विगत बर्ष की परीक्षाओ मे पूछे गये है

  • सबसे हल्‍की धातु लिथियम होती है
  • सबसे भारी धातु ओसमियम होती है
  • विद्युत की सबसे अधिक चालकता चॉदी की होती है
  • अधातुओ के ऑक्‍साइड अम्‍लीय तथा धातुओ के आक्‍साइड क्षारीय होते है।
  • सभी धातुये उष्‍मा और विद्युत की सुचालक होती है।
  • एल्‍यूमिलियम जिंक तथा टिन के ऑक्‍साइड उभयधर्मी होते है ।
  • धातुओ मे पारा मिलाकर अमलगम बनाया जाता है।
  • लोहा निकिल तथा कोबाल्‍ट काो छोेडकर अन्‍य धातुओ मे चुंब‍कीय गुण नही पाये जाते है।

दोस्‍ताेे आपको हमारा ये article  कैसा लगा please अपना  कीमती feedback जरूर दे  तथा अपने दोस्‍ताेे के साथ

share  करैैंं।

धन्‍यवाद।

4 comments on “धातु अधातु की परिभाषा।उदाहरण।अन्‍तर ।उनके रासायनिक गुण। प्रश्‍नोत्‍तर

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *