Three Phase तीन फेज इंडक्शन मोटर ।भाग।वर्किंग

इस पेज पर हम थ्री फेज इंडक्शन मोटर के बारे में समझेंगे जैसे कि यह क्या होती है इसकी बनावट इसके बाद और यह कैसे काम करती है थ्री फेज इंडक्शन मोटर के मुख्यतः 2 भाग होते हैं पहला स्टेटस और दूसरा रोटर इस पेज पर साधारण जानकारी है

विद्युत मोटर एक ऐसा यन्त्र है जो विद्युत ऊर्जा को यांत्रिक ऊर्जा में बदलता है और थ्री फेज इंडक्शन मोटर ऐसी विद्युत मोटर है जो प्रत्यावर्ती धारा पर चलती है और इसे किसी भी स्टार्टिंग डिवाइस की जरूरत नही पड़ती है यह सेल्फ स्टार्ट होती है आप डिप्लोमा के स्टूडेंट होंगे इस पेज को शेयर जरूर करें जिससे हमें पता चले की हमारी चीजें आपके काम आ रही है जिससे हम और भी लिखें आपके लिए

इस मोटर के भाग

इंडक्शन मोटर क्या है इसके भाग और वोर्किंग
Zureks [CC BY-SA 3.0 (https://creativecommons.org/licenses/by-sa/3.0)]
थ्री फेज इंडक्शन मोटर के मुख्यतः 2 भाग होते हैं पहला स्टेटस और दूसरा रोटर पहला भाग स्टेटस स्थिर रहता है और दूसरा भाग रोटर स्टेटर के बीच में घूमता है इन दोनों भागों को आप इमेज में देख सकते है

थ्री फेज इंडक्शन मोटर का स्टेटर

यह भाग स्थिर रहता है स्टेटर को सिलिकॉन की पत्तियों से बनाया जाता है एक साथ मिलकर इन सिलिकॉन की प्रत्येक पत्ति की मोटाई 0.65 mm तक होती है सभी पत्तियों को क्रम में रख कर थ्री फेज इंडक्शन मोटर की बाहरी फ्रेम में कस दिया जाता है इन पत्तियों पर वार्निश किया जाता है जिससे भवँर धारा कम उत्पन हो और हानि कम हो स्टेटर की परिधि पर खांचे बने होते है जिन पर वाइंडिंग की जाती है

थ्री फेज इंडक्शन मोटर की रोटर

यह भाग स्टेटर में घूमता है इसका रोटर बेलनाकार होता है जिस पर खांचे बने होते है यह खांचे रोटर के अक्ष या शाफ्ट के अक्ष के समांतर नही होते है इन खाँचो में सिलिकॉन स्टील की पत्तियां भरी जाती है जैसे वार्निश स्टेटर की पत्तियों पर होती है वैसी ही इन पर भी होती है जिससे के एक दूसरे से सम्पर्क में ना रहें

अब रोटर और स्टेटर को असेम्बल कर दिया जाता है

इन थ्री फेज इंडक्शन मोटर की वर्किंग

जब थ्री फेज इंडक्शन मोटर को थ्री फेज पावर सप्लाई से जुड़ा जाता है तभी है एक घूमती हुई मैग्नेटिक फील्ड यानी चुंबकीय क्षेत्र पैदा करती है जो तुल्य गति से घूमता है

माइकल फैराडे  के इलेक्ट्रोमैग्नेटिक इंडक्शन के नियम से विद्युत चुम्बकीय फ्लक्स के परिवर्तन से एक विद्युत वाहक बल पैदा होता है जिससे प्रेरित धारा उत्पन्न हो जाती है और अपना चुम्बकीय क्षेत्र पैदा करती है यही क्रम चलता रहता है लेन्ज के नियम से सापेक्ष गति का विरोध करती है सापेक्ष गति के कारण रोटर घूमता रहता है

यह पेज जिस पर थ्री फेज इंडक्शन मोटर की जानकारी है हिंदी में आपको अच्छा लगा हो तो इसे शेयर जरूर करें अपने डिम्प्लोमा और इंजीनियरिंग के दोस्तों से और किसी सवाल के लिए कमेंट बॉक्स का उपयोग करें और हमे बताएं

5 comments on “Three Phase तीन फेज इंडक्शन मोटर ।भाग।वर्किंग

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *