कंप्यूटर नेटवर्क और इसके प्रकार LAN,MAN,WAN

कंप्यूटर नेटवर्क क्या है इसके प्रकार उपयोग लाभ हानियाँ

कंप्यूटर नेटवर्क क्या है

कंप्यूटर नेटवर्क एक ऐसा नेटवर्क है जिसमे दो या दो से अधिक कंप्यूटर किसी केवल या वायरलेस के माध्यम से एक साथ जुड़े होते है कंप्यूटर नेटवर्क कहलाता है जैसे कंप्यूटरों का समूह जो आपस मे डेटा शेयर कर सकते है

बहुत सारे कंप्यूटर जो एक साथ जुड़े रहते है उसे कंप्यूटर नेटवर्क कहते हैं चाहे हम ऐसे समझ सकते है कि इंटरनेट आज के समय मैं बहुत सारे लोग, कंपनी,फैक्ट्री ,बैंको ,स्कूल कॉलेज ये सब इंटरनेट के माध्यम से कहीं ना कंही एक दूसरे से जुड़े रहते हैं।इसे ही कंप्यूटर नेटवर्क कहते हैं।

कंप्यूटर नेटवर्क के प्रकार Types of Computer network

कंप्यूटर नेटवर्क के प्रकार जो जरूरी है जिनमे LAN,MAN,WAN है इन्हें आप detail में पड़ सकते है इनके लाभ और हानिया , फुल फॉर्म etc. भी नीचे है

A . LAN (LOCAL AREA NETWORK)-

लोकल एरिया नेटवर्क एक ऐसा नेटवर्क हैं जो एक single रूम या single अपार्टमेंट्स को आपस मैं जोड़ता हैं इसका प्रयोग स्कूल कॉलेज और लिमिटिड प्राइवेट कंपनी और सहकारी बिल्डिंगों मैं किया जाता हैं इस टाईप के नेटवर्क का प्रयोग 5 से 10 KM की दूरी तक करते हैं। इसकी सहायता से हम एक आर्गेनाइजेशन कैम्पस को नेटवर्क से जोड़कर कंट्रोल ओर मैनेज कर सकते हैं चाएं हम इसे ऐसे समझ सकते हैं एक कॉलेज मे कंप्यूटर नेटवर्क सिस्टम होता हैंजो पूरे कैम्पस मे होने वाली गतिविधि कंप्यूटर डिपार्टमेंट को कट्रोल करना और मीटिंग और सेमिनार ओर लाइब्रेरी , examinationकट्रोल रूम आदि को कंप्यूटर नेटवर्क के माध्यम से मैनेज करते हैं इसके लिये प्रयोग मैं लाने वाली डिवाइस जैसे प्रिंटर , डाटा केबल , अडॉप्टर ,राऊटर , हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर आदि एक लाइन ओर सीक्वेंस मैं एक दूसरे से जुड़े रहते हैं।

Local area network (LAN) के लाभ

1.इसकी सहायता से हम लोकल एरिया नेटवर्क यानी एक particular campus और कॉलेज को सहीतरीके से मैनेज और कंट्रोल कर सकते हैंक्योँकि इसमे ज्यादा लोगों की फिजिकल वर्क की जरूरत नही होती हैं।

2.ये एक कॉलेज और कैम्पस का डाटा रेकॉर्ड और सिक्योरिटी प्रधान करता हैं।

3.इसका कम्युनिकेशन cost बहुत ही कम है क्योँकि इसके देखभाल के लिये ज्यादा लोगों की जरूरत नही होती हैं और यहपर्टिकुलर placeतक सीमित रहता हैं।

4.इस नेटवर्क सिस्टम मैं कोई भी एरर आता है तो बहुत ही कम लागत और समय लगता हैं।

Local area network से हानियाँ Disadvantages of LAN

1.इसमें कभी कभी स्पीड slow और down होती रहती हैं क्योँकि इसमे कोई ज्यादा टेक्निकल डिवाइस नही होती हैं।

2.इस नेटवर्क के पास sufficient knowledgeहोता हैं इसलिए इसकी सिक्योरिटी मैं प्रॉब्लम आ सकती हैं।

3.इस नेटवर्क को हमेशा टेक्निकल और स्किल्ड मैनपावर की जरूरत पड़ती रहती हैं क्योँकि ये एक लोकल नेटवर्क हैं।

B.MAN (Metropolitan area network)-

मेट्रोपोलिटन एरिया नेटवर्क इसको ऐसे समझ सकते हैं जैसे एक मेट्रो का रूटएक लोकल एरिया से दूसरे लोकल एरिया तक आने जाने का कामरहता हैं और इसकी रेंज 50 से 70 KM तक के दायरेतक होती हैं। यह नेटवर्क लोकल एरिया नेटवर्क से काफी अच्छा होता हैं दूसरे तरीके से ऐसे समझ सकते हैं जैसे एक स्टेट होती हैं जिससे काफी सारे गांव और ब्रांचेज जुडी रहती हैं इस टाईप के नेटवर्क का काम इन्ही सारे गांव और लोकल सिटी तक अपनी सेवाओं जैसे सूचना प्रसार और ऑनलाइन ट्रेडिंग और बिज़नेस कम्युनिकेशन आदि कार्य कर सकते हैं। ये एक पूरे स्टेट को अच्छे से मैनेज ओर कंट्रोल करता हैं

Metropolitan Area Network के लाभ Advantages of MAN

1.इसका डाटा ट्रांसफर same LAN की तरह ही होती हैं ये लोकल एरिया नेटवर्क से काफी अच्छा है क्योँकि इसका विस्तार LAN की अपेक्षा मैं बड़ा हित हैं।

2.यह सर्फ पूरी पर्टिकुलर सिटी को मैनेज कर सकता हैं।

3.इससे पर्टिकुलर सिटी के लोगों को रोजगार मिल सकता हैं और वहाँ के लोग इसकी सहायता सेअपने आपको अच्छे से मैनेज और कंट्रोल कर सकते हैं।

Metropolitan area network से हानियाँ Disadvantages of MAN

1.इस नेटवर्क मे इंटरनेट स्पीड slow down हो रहती हैं। जिसे मैनेज करने आसान नहीं हैं।

2.इस नेटवर्क मे LAN से ज्यादा device और डाटा केबल्स , सिक्योरिटी टूल्स की जरूरत होती हैं।

3.इस नेटवर्क मे ज्यादा टेक्निकल लोगों की जरूरत होती हैं जो इस नेटवर्क को अच्छे से देखभाल कर सके और कम्युनिकेशन slow होता हैं।

C.WAN(wide area network)

यह एक ऐसा नेटवर्क है जो वर्ल्ड वाइड एरिया को जोड़ता है और एक कंट्री को दूसरी कंट्री को जोड़कर रखता हैं जैसे भारत और अमेरिका WAN नेटवर्क से हम एक देश से दूसरे देश में सूचनाओं और ऑनलाइन ट्रांसपोर्ट और transactionआसानी से हो जाता हैं वाइड एरिया नेटवर्क का डाटा डिस्ट्रीब्यूशन range 1000KM से ज्यादा होता हैं इस नेटवर्क की सहायता से हम बहुत सारे विकसित देशो से माल ले सकते और वहाँ भेज सकते हैं इस नेटवर्क की गति बाकी नेटवर्क से बहुत ज्यादा और सुविधाजनक होती हैं इसका विस्तार काफी ज्यादा होता हैं इसलिए इसे वाइड एरिया नेटवर्क कहा जाता हैं।

Wide Area Network के लाभ Advantages of WAN

1.इस टाईप के नेटवर्क से बहुत सारा समय और पैसा खर्च होने से बच जाता हैं इसके आने से Business Organisationको अच्छे से हैंडल कर सकते हैं।

2.वाइड एरिया नेटवर्क के आने से इंडस्ट्री की कार्यशील करने मे गति आई और तो और दिन दिन अनेकों बिज़नेस develop होने लगे जिससे काफी सारे लोगों को रोजगार मिलने लगा।

3.इसके आने से देश मैं हर क्षेत्र मैं वृद्धि होने लगी जैसे यातायात, कंप्यूटर नेटवर्कमशीनरी ,टेक्निकल software और हार्डवेयर आने से business दिन प्रतिदिन व्रद्धि होने लगी।

wide area network से हानियाँ Disadvantages of WAN

1.वाइड एरिया नेटवर्क के आने के साथ साथ बेनिफिट हुए तो कुछ हद तक कही परेशानी भी हुई जैसे बैंक और बिज़नेस डिपार्टमेंट एरिया मे साइबर क्राइम बढ़ने लगे और तो और अनेक हैकर भी पैदा हो चुके हैं जो समय रहते हुए डाटा चोरी और सारा कंप्यूटर सिस्टम ही हैक कर लेते हैं जो कि किसी आर्गेनाईजेशन पर बुरा प्रभाव पड़ता हैं।

2.इस नेटवर्क को सेट करने के लिए बहुत ज्यादा इन्वेस्टमेंट और लोगों की जरूरत होती हैं।

3.इस टाईप के नेटवर्क मे काफी सारी प्रॉबलम्स आती हैं जैसे server down और disconnection issue जो ज्यादातर बैंको मे देखने को मिलते हैं।

4.इस टाइप की देखभाल करने के लिए बहुत सारे firewallऔरAntivirusकी जरूरत होती हैं जो कि कंप्यूटर नेटवर्क को डाटा रिकवरी और maintain करने के लिए काम आते हैं।

5.इस टाईप के नेटवर्क को सुरक्षित रखने के लिए बहुत ज्यादा एक्सपर्ट और टेक्निकल लोगों की जरूरत होती हैं क्योंकि इसके अन्दर होने होने वाले ऑनलाइन वर्क जैसे बड़ी बडी बैंको, और स्टॉक मार्केट, रेल्वे रिजर्वेशन कांउटर, और लार्ज आई टी डिपार्टमेंट होते हैं। जो कि सर्वर डाउन और कि प्रॉबलम्स createकरती हैं।

कंप्यूटर नेटवर्क का इतिहास History of Computer network

अब हम बात करते हैं कंप्यूटर नेटवर्क की तो हमें इसे अच्छे से समझने के लिए आज से थोड़ा जाना पड़ेगा आज से बहुत समय पहले की बात हैउस समय कंप्यूटर और इंटरनेट जैसी चीजे नही थी। उस समय इंसान को अपनी बात पहुंचने के लिए दूसरे इंसान की जरूरत होती थी वो इंसान सूचना लाकर दूसरे इंसान को देता था। इसमे एक को दूसरे इंसान तक अपनी बात पहुचने के लिए माध्यम बनना पड़ता था और तो और कभी कभी सूचना पहुच ही नही पाती थी जिससे काफी सारा समय और पैसा बर्बाद होता था। और शारीरिक कार्य ज्यादा करना पड़ता था। इससे इंसान अपना काम कम कर पाता था। जैसे जैसे समय बदलता गया

पहला नेटवर्क ARPANET जिसे 1960 से 1970 के बीच मे लाया गयाइसकी सहायता से पहला मैसेज 29 अक्टूबर 1970 मैं भेजा गया उसके बाद इंसान के बीच सूचना प्रसारण का नेटवर्क बढ़ गया अब वह लोग अपना मैसेज एक इंसान से दूसरे तक आसानी से भेजने मैं जागरूक हो गए और यही से कंप्यूटर नेटवर्क का विकास शुरू हो गया।

कंप्यूटर नेटवर्क की विशेषताएं (Characteristics of Computer network)

  1. कंप्यूटर नेटवर्क का मुख्य कार्य इंसान की शारिरिक परेशानी को खत्म करना जो कि अपना मैसेज भेजने के लिए दूसरे इंसान की सहायता लेते थे।
  2. इसके कार्य को देखकर इंसान को इसके प्रति विश्वासहोने लगा और वो लोग अपना सारा काम कंप्यूटर नेटवर्क की सहायता लेने लगे।
  3. कंप्यूटर नेटवर्क का विकाश होने से इंसान का काफी सारा समय और पैसा खर्च होने से बचा और तो और यातायात के साधन मैं विकाश होने लगा।
  4. कंप्यूटर नेटवर्क के आने से स्कूल कॉलेज और प्राइवेट कंपनी और हॉस्पिटल ओर संस्थानों का विकास तेजी से होने लगा और लोग एक दूसरे से जुड़ने लगे और धीरे धीरे इन लोगों ने बहुत सारे लोगों को रोजगार दिया और देश के विकास मैं सहायता की।
  5. कंप्यूटर नेटवर्क एक मीडिएटर की तरह काम करता हैं।इसकी सहायता से सेल्स मार्केटिंग बिजनिस मैं बृद्धि होने लगी और communication सिस्टम काफी तेजी से होने लगे जैसे ऑनलाइन ट्रेडिंग और ट्रेवलिंग कम्युनिकेशन, मनी ट्रांसेक्शन आदि।
  6. कंप्यूटर नेटवर्क के आने सेऑनलाइन डीलिंग मैनुफैक्चरिंग और purchasingहोने लगी जिससे labour का फिजिकल हार्डवर्क कम होने लगा।
  7. कंप्यूटर नेटवर्क से इंसान परेशान होता है तो ऑनलाइन म्यूजिक और वीडियो देखकर रिलैक्स कर सकता हैं और फिर से अपना काम कर सकता हैं।

कंप्यूटर नेटवर्क की सीमायें Limitations of Computer network

1.कंप्यूटर नेटवर्क से आने से इतने फायदे भी हैं तो कुछ नुकसान भी हैं जैसे बहुत सारे डेटा केबल्स और मोडेम, फैक्स मशीन प्रिंटर आदि महँगे महँगे उपकरण प्रयोग होते है और साथ ही कंही किसी डिवाइस ने काम करना बंद कर दिया या कोई फॉल्ट हुआ तो इन सबको मैनेज करने के लिए बहुत सारा समय और पैसा खर्च होता हैं।

2.कंप्यूटर नेटवर्क का देखभाल करने की भी आवश्यकता पड़ती हैं जैसे सिस्टम मेंटेनेंस और बार बार डिवाइस और सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर अपडेट करने पड़ते हैं जिसके लिए टेक्निकल लोगों की जरूरत होती जो कि इन प्रॉब्लमस को सॉल्व कर सके.।

3.कंप्यूटर नेटवर्क आने के साथ साथ बहुत सी सिक्योरिटी भी बढ़ गईं है जैसे साइबर क्राइम और हैकर जिससे हमारे सिस्टम से डेटा चोरी हो सकता हैं और तो और बहुत ज्यादा नुकसान भी हो सकता हैं जिसकी हम अनुमान नही लगा सकते।

1 thought on “कंप्यूटर नेटवर्क और इसके प्रकार LAN,MAN,WAN”

Leave a Comment

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *